जरुरी जानकारी | सीमा शुल्क निकासी में आसानी से चिकित्सा उपकरणों के वितरण में तेजी आएगी: लॉजिस्टिक्स कंपनी

मुंबई, तीन मई कोरोना वायरस से संबंधित आपातकालीन चिकित्सा उपकरणों के आयात में भारी बढ़ोतरी के बीच लॉजिस्टिक्स उद्योग ने कहा है कि सीबीआईसी द्वारा इन उत्पादों की सीमा शुल्क निकासी के लिए हाल में उठाए गए कदमों से उनके तेजी से वितरण में मदद मिलेगी।

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने हाल ही में एक अधिसूचना जारी कर कुछ वस्तुओं के आयात की मंजूरी की प्रक्रिया को सरल बनाया था।

डीएचएल एक्सप्रेस ने कहा कि इस फैसले से लॉजिस्टिक्स कंपनियों को आपातकालीन चिकित्सा उपकरणों के लिए तेजी से मंजूरी पाने में मदद मिलेगी और महामारी के प्रकोप को काबू में पाया जा सकेगा।

डीएचएल एक्सप्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक आर एस सुब्रमण्यन ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी और शारीरिक दूरी के नए नियमों के चलते सीमा शुल्क सहित हम में से ज्यादातर कम कर्मचारियों के साथ काम करने के लिए मजबूर हैं।’’

उन्होंने कहा कि सीमा शुल्क विभाग द्वारा प्रक्रियाओं को स्पष्ट करने और व्यवस्था को सरल बनाने से इन वस्तुओं की निकासी में तेजी आएगी।

एक्सप्रेस इंडस्ट्री काउंसिल ऑफ इंडिया के सीईओ विजय कुमार ने कहा, ‘‘हमें यह जानकर खुशी है कि संकट की इस घड़ी में भारतीय सीमा शुल्क ने जीवन बचाने के लिए गंभीर रूप से आवश्यक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के आयात पर बुनियादी सीमा शुल्क को समाप्त कर दिया है।’’

उन्होंने कहा कि विभाग बिना किसी बाधा के इन वस्तुओं की निकासी के लिए लॉजिस्टिक्स कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रहा है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)