देश की खबरें | कांग्रेस सरकार एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी देगी: खरगे

अंबिकापुर, 13 फरवरी किसानों के 'दिल्ली चलो' आंदोलन के बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आने के बाद किसानों के हित में फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को कानूनी गारंटी प्रदान करेगी।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले यह उनकी पार्टी की पहली 'गारंटी' है।

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के मुख्यालय अंबिकापुर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' के दौरान एक सभा को संबोधित करते हुए खरगे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि लोगों को मोदी की 'गारंटियों' पर विश्वास नहीं करना चाहिए।

खरगे ने कहा, ''मैं छत्तीसगढ़ से घोषणा करना चाहता हूं कि किसानों के लिए फसलों की व्यापक खरीद के साथ एमएसपी की कानूनी गारंटी हमारी गारंटी है (आगामी लोकसभा चुनावों के लिए)। अगर हम सत्ता में आते हैं तब इस गारंटी को जरूर लागू किया जायेगा। यह हमारी पहली गारंटी है।''

उन्होंने कहा, ''जो किसान (दिल्ली सीमा पर) अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं, उन्हें रोकने के लिए सड़क पर लोहे की कीलें बिछाई गई और सीमेंट की दीवारें खड़ी की गईं। ये कैसा लोकतंत्र है? क्या कोई अपने अधिकारों के लिए नहीं लड़ सकता''

'दिल्ली चलो' मार्च में शामिल किसानों की एक मांग फसलों के लिए एमएसपी की गारंटी वाला कानून बनाने की है।

खरगे ने यह भी दावा किया कि निजी बीमा कंपनियों ने पीएम फसल बीमा योजना के माध्यम से पिछले दस वर्षों में 40 हजार करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। उन्होंने कहा कि मोदी जी को किसानों और गरीबों की परवाह नहीं है, बल्कि वह केवल अमीरों पर ध्यान देते हैं।

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ''वह खुद को पिछड़ा, गरीब और चाय बेचने वाला बताते हैं। आप (मोदी) चाय या कुछ और बेचिए लेकिन देश और सार्वजनिक उपक्रमों को नहीं बेचिए।''

उन्होंने कहा, ''जब मोदी जी अडानी को बंदरगाह, सड़कें और खदानें देते हैं तो उन्हें पिछड़ों की याद नहीं आती।''

खरगे ने दावा किया कि भाजपा ने कांग्रेस की नकल करते हुए 'मोदी की गारंटी' शब्द का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। कांग्रेस गारंटी देकर कर्नाटक और अन्य राज्यों में सत्ता में आई थी।

उन्होंने कहा, ''हम अपने वादों को कांग्रेस की गारंटी कहते हैं लेकिन वे इसे मोदी की गारंटी कहते हैं। वह (मोदी) हमेशा अपने बारे में बात करते हैं। अगर किसी व्यक्ति में इतना अहंकार है तो सोचो कि वह लोकतंत्र में विश्वास करता है या नहीं? वह केवल अपने लिए काम करते हैं और जो व्यक्ति अपने लिए काम करता है वह तानाशाह और हिटलर जैसा है, न कि वह जो लोकतंत्र में विश्वास करता है।''

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''मोदी जी ने हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करने, हर साल दो करोड़ रोजगार पैदा करने और किसानों की आय दोगुनी करने की गारंटी दी थी। क्या उसे पूरा किया गया? जो आदमी 2014 और 2019 में झूठ बोल चुका है, वह अब फिर गारंटी दे रहा है। उसकी गारंटी पर भरोसा मत करो। वह लोगों को गुमराह कर रहे हैं।''

उन्होंने कहा, ''मैं कहता रहा हूं कि वह 'झूठों के सरदार' हैं और उनके वादे फर्जी हैं। लेकिन कुछ लोग इसे समझ नहीं पाए और आज उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।''

खरगे ने कहा, ''प्रधानमंत्री मोदी का एजेंडा कांग्रेस को गाली देना है। वह कभी सोनिया जी को गाली देते हैं और कभी राहुल जी को। वह कहते हैं कि एक परिवार ने देश को लूट लिया है।''

उन्होंने कहा, ''1989 में राजीव गांधी के प्रधानमंत्री बनने के बाद परिवार का कोई भी सदस्य न तो प्रधानमंत्री बना और न ही मंत्री। वह (मोदी) लोगों को भड़काने की कोशिश करते हैं। कृपया उनके जाल में न फंसें अन्यथा लोकतंत्र और देश नष्ट हो जाएगा।''

उन्होंने भाजपा पर देश को बांटने का आरोप लगाते हुए उसकी आलोचना की।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''मोदी जी और उनकी सरकार ओबीसी, धर्म और भगवान के नाम पर वोट मांगती है। धर्म को राजनीति में नहीं लाना चाहिए क्योंकि देश में विभिन्न धर्मों के लोग रहते हैं। ऐसा करके मोदी जी देश को बांटना चाहते हैं।''

उन्होंने जैव-विविधता से समृद्ध हसदेव क्षेत्र में एक कोयला खदान परियोजना के लिए कथित तौर पर 15 हजार पेड़ों को काटने की अनुमति देने के लिए छत्तीसगढ़ में नवनिर्वाचित भाजपा सरकार पर भी निशाना साधा।

खरगे ने कहा, ''सोमवार को राहुल जी ने हसदेव बचाओ आंदोलन समिति के सदस्यों से मुलाकात की और उन्हें समर्थन देने का आश्वासन दिया।''

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस गरीबों की पार्टी है, जबकि भाजपा अमीरों की पार्टी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)