देश की खबरें | मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने राज्यपाल को असम के नवनिर्वाचित विधायकों की सूची सौंपी

गुवाहाटी, चार मई असम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) नितिन खाडे ने मंगलवार को राज्यपाल जगदीश मुखी से भेंट की और उन्हें अगली विधानसभा के नवनिर्वाचित 126 सदस्यों की सूची सौंपी।

भाजपा इस चुनाव में विजयी बनकर उभरी है लेकिन उसने अभी राज्यपाल से भेंटकर सरकार बनाने दावा पेश नहीं किया है। चुनाव का परिणाम दो मई को घोषित कर दिया गया था।

सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार खाडे ने निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ प्रधान सचिव नरेंद्र एन बुटोलिया की हस्ताक्षर वाली अधिसूचित सूची सौंपी।

राज्यपाल ने दो, पांच और 12 मार्च को तीन चरणों के चुनाव के लिए अधिसूचनाएं जारी की थी और उसके अनुसार 126 सदस्यीय विधानसभा के निर्वाचन के लिए 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को मतदान हुआ था।

सत्तारूढ़ भाजपा और उसके सहयोगी दलों ने 75 सीटें जीती हैं जबकि विपक्षी महागठबंधन को 30 सीटें मिली है। इस महागठबंधन में कांग्रेस, एआईयूडीएफ और आठ अन्य दल थे। नवगठित पार्टी राइजोर दल के अध्यक्ष अखिल गोगोई ने बतौर निर्दलीय चुनाव जीता है।

निर्वाचन आयोग ने एक आदेश जारी कर आदर्श आचार संहिता भी हटा ली।

अब इस बात की अटकलें हैं कि निवर्तमान मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ही अगले मुख्यमंत्री होंगे या फिर उनके मंत्री हिमंत बिस्व सरमा सरकार के मुखिया होंगे।

सरमा ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि सरकार गठन में ‘थोड़ी देरी’ होगी क्योंकि भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं पर कथित रूप से हमला किये जाने के बाद पश्चिम बंगाल में हैं।

भाजपा ने इस बार किसी भी नेता का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए पेश नहीं किया था। वर्ष 2016 के चुनाव में सोनोवाल इस पद के लिए पार्टी का चेहरा थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)