देश की खबरें | आप ने लोस चुनाव के लिए दक्षिण गोवा और गुजरात की दो सीट से उम्मीदवारों की घोषणा की,

नयी दिल्ली, 13 फरवरी आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को गुजरात की दो और गोवा की एक लोकसभा सीट के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा करके विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ पर दबाव बढ़ा दिया है। उसने सीट बंटवारे की बातचीत में देरी की शिकायत की है।

कांग्रेस को अलग-थलग करने की कोशिश में आप ने दिल्ली में सात लोकसभा सीटों में से केवल एक सीट की पेशकश उसके लिए की है और अपनी मंशा साफ कर दी है कि वह बाकी छह सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है।

पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की बैठक के बाद यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आप के राज्यसभा सदस्य और महासचिव (संगठन) संदीप पाठक ने कहा कि वेन्जी वीगास दक्षिण गोवा सीट से चुनाव लड़ेंगे, जबकि चैतर वसावा और उमेश भाई मकवाना क्रमशः गुजरात में भरूच और भावनगर सीटों से चुनाव लड़ेंगे।

आप विधायक वीगास दक्षिण गोवा से पार्टी के उम्मीदवार होंगे जहां से 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के फ्रांसिस्को सरदिन्हा चुनकर आए थे।

पाठक ने कहा कि गुजरात में पिछले विधानसभा चुनाव में पार्टी की वोट हिस्सेदारी के आधार पर उसने राज्य में अपने लिए आठ लोकसभा सीट की मांग की है और बाकी 18 सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने को तैयार है।

उन्होंने कहा कि आप पंजाब में सभी 13 लोकसभा सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) से मांग की है कि चंडीगढ़, हरियाणा और अन्य राज्यों में सीट बंटवारे पर बातचीत जल्द से जल्द होनी चाहिए।

पाठक ने कहा कि कांग्रेस ने भरूच सीट से लड़ने पर जोर दिया था। उन्होंने कहा कि चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए जीतने की क्षमता देखी जानी चाहिए, न कि परिवारवाद।

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस नेता भावनात्मक कारणों से भरूच सीट पर दावा कर रहे थे क्योंकि यहां से 1984 में अहमद पटेल (अब दिवंगत) ने प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने कहा कि पटेल की बेटी इस सीट से चुनाव लड़ेंगी। हमें यदि भाजपा को हराना है तो परिवारवाद से मुक्ति पानी होगी।’’

पाठक ने कहा कि सीट बंटवारे पर बातचीत के लिए कांग्रेस और उनकी पार्टी के नेताओं के बीच आठ और 12 जनवरी को दो आधिकारिक बैठक हुईं जो बेनतीजा रहीं।

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले एक महीने में कांग्रेस के साथ कोई बैठक नहीं हुई और हमें यह संवाददाता सम्मेलन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।’’

आप नेता ने कहा कि इसके बावजूद उनकी पार्टी मजबूती और ईमानदारी से ‘इंडिया’ गठबंधन के साथ खड़ी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि विपक्षी गठजोड़ उनके घोषित उम्मीदवारों को स्वीकार करेगा।

आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में पीएसी की बैठक हुई।

पाठक ने कहा, ‘‘हम दिल्ली में छह सीटों पर चुनाव लड़ना चाहते हैं और हाल के चुनावों में वोट प्रतिशत के आधार पर कांग्रेस को एक सीट की पेशकश करना चाहते हैं। हम फिलहाल दिल्ली के लिए किसी भी उम्मीदवार की घोषणा नहीं कर रहे हैं, लेकिन अगर सीट-बंटवारे पर बातचीत जल्द पूरी नहीं होती है, तो हम दिल्ली की छह सीटों के लिए भी उम्मीदवारों की घोषणा करेंगे।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)