विदेश की खबरें | यूक्रेन-रूस युद्ध में श्रीलंका के 16 पूर्व सैनिक मारे गए : रक्षा मंत्रालय
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

कोलंबो, 15 मई यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध में अबतक तक श्रीलंका के कम से कम 16 पूर्व सैनिक मारे गए हैं। द्वीपीय देश के रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि विदेशी रोजगार एजेंसियों द्वारा विदेश में अच्छी नौकरी दिलाने के दिए गए छलावे में आकर श्रीलंका के कई पूर्व सैनिक रूस और यूक्रेन की सेना में शामिल हो गए हैं।

रक्षा राज्यमंत्री प्रेमिथा बंद्रा तेन्नाकून ने बताया कि रूस-यूक्रेन युद्ध में श्रीलंका के 16 पूर्व सैनिक मारे गए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रमाणिक सूचना है जो हमें मिली है।’’

तेन्नाकून ने बताया कि इस समय रूस और यूक्रेन में मौजूद श्रीलंकाई नागरिकों को वापस लाने की योजना बनाई जा रही है।

पुलिस के मुताबिक कई पूर्व सैनिक दोनों पक्षों की ओर से लड़ाई में शामिल हैं।

तेन्नाकून ने बताया, ‘‘ अबतक मिली जानकारी के मुताबिक ऐसे सैनिकों की संख्या 288 है। उनके परिजनों से शिकायत मिलने के बाद सरकार उनकी वापसी के लिए कदम उठाएगी।’’

उन्होंने कहा कि अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए श्रीलंका रूस और यूक्रेन के मित्र सरकारों के साथ काम कर रही है।

पुलिस ने बताया कि पूर्व श्रीलंकाई सैनिकों को युद्ध में भेजने वाले श्रीलंकाई एजेंट के साथ भारतीय एजेंट रमेश भी समन्वय कर रहा था।

तेन्नाकून के मुताबिक मानव तस्करी के तहत पूर्व सैनिकों को तीसरे देश के रास्ते युद्ध के मोर्चे पर भेजा जा रहा था।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)